"जब तुम्हारा कोई साथ न दे तो, अकेले ही पथ पर चलते रहो, सहस्त्रों वर्षों से उत्पीड़ित शोषितों के जीवन में नया प्रकाश फैलाने के लिए अल्पायु में ही ज्योतिबा भी अकेले चले थे, केवल जीवन संगीनी का ही उन्हें सहबल प्राप्त था।"
गुरुदेव रवीन्द्रनाथ ठाकुर

हमारे बारे में

Manish Gehlot

भारत देश में समाज सुधारक के रूप में महात्मा गौत्तम बुद्ध के बाद महाराष्ट्र के महात्मा ज्योति बा फुले, शाहू जी महाराज, डॉ. बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर तथा महात्मा गांधी ने जन्म लिया है और देश को मानवता की राह दिखान में अग्रणी रहे हैं।

यहाँ महात्मा ज्योति बा फुले के विषय में महात्मा फुले चरित्र साधने प्रकाशन समिति, महाराष्ट्र शासन ने स्थापित कर हिन्दी तथा अंग्रेजी भाषा में महात्मा फुले के साहित्य को आगे बढ़ाया। यह गर्व की बात है कि वे माली जाति में पैदा होकर देश को मानवता की राह दिखाने वाले महामानव थे।

मेरे विचार से महात्मा फुले के विचारों को यदि समाज ने ठीक से नहीं अपनाया तो उन्हें अन्य जागरूक लोग हमसे छिन लेंगे, इसी विचार से महात्मा ज्योति बा फुले पर वेब साईट के निर्माण की प्रेरणा मेरे मन में आई हालांकि महात्मा फुले के बारे में इतनी जानकारी लिखकर उन्हें नहीं समझा जा सकता, किन्तु मोटे तौर पर जो लोग बिल्कुल भी उनके बारे में नहीं जानते है या जो उनके बारे में अचकचरे रूप से उनके कार्यों को जानते है, उनके लिए यह एक प्रयास है। इसे पढ़कर आप महात्मा ज्योति बा फुले के बारे में शायद थोड़ा बहुत जानने योग्य अपने आपको तैयार कर लेंगे और महात्मा फुले द्वारा स्थापित आदर्शो को अपनाने तथा आने वाली पीढ़ी को तैयार करने के लिए अगवानी करेंगे। वर्तमान संदर्भ में महात्मा ज्योति बा फुले की जय जयकार के नारे लगाना और उनकी प्रतिमा पर फूल मालायें चढ़ाना, प्रगतिशीलता का धोतक बन रहा है, यह खतरनाक धारणा है वास्तव में हमारे देश में "आकारों की पूजा करके विचारों की उपेक्षा" करने की जो परम्परागत प्रथा है, वही सामाजिक तथा आर्थिक पिछड़ेपन की जड़ है।

आगे मेरा और भी प्रयास रहेगा कि महात्मा ज्योति बा फुले तथा प्रथम नारी शिक्षिका सावित्री बाई फुले पर अधिक से अधिक जानकारी आपको प्रदान करूं। इस वेब साईट पर आने वाले समय में महात्मा फुले द्वारा लिखित सभी पुस्तकों का हिन्दी एवं अग्रेजी संस्करण भी उपलब्ध करवाया जायेगा। इस वेब साईट में समाज के शिक्षित, विचारक, लेखक, महात्मा फुले के अनुनायियों का भरपूर सहयोग मुझे मिला उसके लिए मैं उन सभी का हृदय से आभारी हूँ। उनके लेखों एवं शोध कार्यों को भी इस वेब-साईट में प्रकाशित किया जायेगा। उनके जीवन से प्रेरणा लेने वाले समाजबंधुओं की जीवनी एवं विचारों को भी वेब-साईट में प्रकाशित किया जायेगा। महात्मा ज्योति बा फुले से जुडें कार्यक्रमों एवं समारोहों की जानकारी भी इस वेब साईट में प्रकाशित की जायेगी।

इस वेब-साईट में जो विचार बने हैं उन्हें साकार रूप देने का प्रयास किया है जिसे आप अपनायेंगे और महात्मा फुले की मानवतावादी सामाजिक क्रांति की अवधारणा को पूरा करने के लिए अपने आपको समर्पित भाव से जोड़कर धार्मिक पाखंड़ों, अंधविश्वासों से उबरने में सफल होंगे।


www.naveenparth.net
Valid XHTML Strict!Valid CSS!Multi Browser Ready!